Shukrana Gul Khile Lyrics From the Bollywood Hindi Movie Based On 1947.
Shikara Move feature Aadil Khan & Sadia in leading Role. Lyrics Of Shukrana Gul Khile Song Are written By Bashir Arif and Song Is Sung By Munir Ahmad Mir. MUSIC Video Uploaded On Zee Music Company.

Shukrana Gul Khile Lyrics- Shikara


Details:-
Song: Shukrana Gul Khile
Composer: Abhay Rustum Sopori
Lyrics: Bashir Arif
Singer: Munir Ahmad Mir
Actors - Aadil Khan & Sadia
Production House - Vinod Chopra Films
Producer - Vidhu Vinod Chopra
Director - Vidhu Vinod Chopra
Music on Zee Music Company

Shukrana Gul Khile Lyrics- Shikara

Tu Hai Ab Jo Bahoon Mein
Karaar Hai
Rab Ka Shukrana
Saanson Mein Hai Nasha
Khumaar Hai.

Rab Ka Shukrana
Tu Hi Ab Mera Deen Hai
Imaan Hai
Rab Ka Shukrana
Mera Kalma Hai Tu
Azaan Hai.

Rab Ka Shukrana
Rab Ka Shukrana
Tu Mila Toh Sab Mila
Ab Kisi Se Kya Gilaa
Tujhme Simtoon
Aa Mein Bikhroon
Teri Bahoon Mein

Tu Mila Toh Sab Mila
Ab Kisi Se Kya Gilaa
Tujhme Simtoon
Aa Mein Bikhroon
Teri Bahoon Mein
Fanaa Ho Jaon Main
Tu Hi Ab Duniya Meri
Jahan Hai

Rab Ka Shukrana
Khwaabon Ki Khayalon Ki
Udaan Hai
Rab Ka Shukrana
Rab Ka Shukrana
Tu Hi Ab Mera Deen Hai
Imaan Hai

Rab Ka Shukrana
Mera Kalma Hai Tu
Azaan Hai
Rab Ka Shukrana
Sab Se Ho Jaon Parey
Jo Ishaara Tu Karey
Ab Toh Rehna Hai

Tujhi Mein Gumshudaa Hoon Main
Sab Se Ho Jaon Parey
Jo Ishaara Tu Karey
Ab Toh Rehna Hai
Tujhi Mein Gumshudaa Hoon Main
Ho Teri Bahoon Mein
Jazbon Ka Ab Toh Naya
Bayaan Hai

Rab Ka Shukrana
Naya Rutbaa Nayi Shaan Hai
Rab Ka Shukrana
Tu Hi Ab Mera Deen Hai
Imaan Hai

Rab Ka Shukrana
Mera Kalma Hai Tu
Azaan Hai Tu
Rab Ka Shukrana
Rab Ka Shukrana

Lyrics Of Shukrana Gul Khile In Hindi From Shikara

तू है अब जो बहून में
कारार है
राब का शुक्राण
सांसों में है नाश
कहुमार है।

राब का शुक्राणा
च ही अब मेरा दीन है
इमां है
राब का शुक्राणा
मेरा कलमा है तु
कजान है।

राब का शुक्रना
राब का शुक्राणा
च मिला तोह सब मिळा
आब किसी से क्या गीला
तुझमे सिमटूं
आ में बिखरूं
टरी बहून में

च मिला तोह सब मिळा
आब किसी से क्या गीला
तुझमे सिमटूं
आ में बिखरूं
टरी बहून में
फ़ाना हो जाओं में
च ही अब दुनिया मेरी
जहां है

राब का शुक्राण
खवाबों की ख़यालों की
उदान है
राब का शुक्राणा
राब का शुक्राणा
च ही अब मेरा दीन है
इमां है

राब का शुक्राणा
मेरा कलमा है तु
कजान है
राब का शुक्राण
साब से हो जाओं परे
जो इशारा तू करे
आब तोह रहना है

तुझी में गुमशुदा हूँ में
साब से हो जाओं परे
जो इशारा तू करे
आब तोह रहना है
तुझी में गुमशुदा हूँ में
हो तेरी बहून में
जज़बों का अब तोह नया
बायाँ है

राब का शुक्रन
नय रूतबा नयी शां है
राब का शुक्राणा
च ही अब मेरा दीन है
इमां है

राब का शुक्रना
मेरा कलमा है तु
कजान है तु
राब का शुक्रना
राब का शुक्रणा